आखिर कौन है ओम बिड़ला जिसे खुद पीएम मोदी लेकर गए स्पीकर की कुर्सी तक

500
speaker om birla

17वीं लोकसभा के स्पीकर के रूप में भारतीय जनता पार्टी के ओम बिड़ला (Speaker Om Birla) को चुना गया है। इनके नाम की पुष्टि बुधवार को  संसद की कार्यवाई शुरू होने से पहले भारतीय जनता पार्टी के नेता तथा भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई है। ओम बिड़ला (Speaker Om Birla) के नाम का सर्मथन कांग्रेस, तृणमूल, द्रमुक कई दलों के नेताओं द्वारा किया गया है। संसद की सबसे खास बात तो यह थी की देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी खुद उन्हें स्पीकर की कुर्सी तक लेकर गए थे। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री मोदी ने स्पीकर ओम बिड़ला की प्रशंसा करते हुए यह कहा है की “मुझे डर है कि बिड़लाजी की नम्रता और विवेक का कोई दुरुपयोग न कर ले।”

Speaker Om Birla की तारीफ करते हुए यह कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने

speaker om birla

ओम बिड़ला की तारीफ में उन्होंने यह भी कहा है की हमारे लिए ओम बिड़ला (Speaker Om Birla) जी को इस पद पर देखना हम सबके लिए बहुत गर्व की बात है। संसद के सभी पुराने सदस्य ओम बिड़ला से अच्छे से परिचित है। साथ ही प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है की यह जहाँ भी जाते है उस स्थान को शिक्षा का काशी बना देते है। (Speaker Om Birla) स्पीकर ओम बिड़ला की पूरी कार्यशैली समाज सेवा करने में रही है। जब गुजरात को भूकंप का सामना करना पड़ा था तो उस दौरान स्पीकर ओम बिड़ला (Speaker Om Birla) अपने साथियों के साथ गुजरात में मौजूद थे। इतना ही नहीं जब केदारनाथ ने हादसा हुआ था तो उस दौरान भी इनके द्वारा पीड़ित लोगों की सहायता की गई थी। स्पीकर ओम बिड़ला (Speaker Om Birla) को गरीबों का मसीहा कहा जाता है। वह हमेशा ही निर्धन व्यक्तियों को खाना खिलाते रहते है।

इसके अलावा, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है की हमें विश्वास है की ओम बिड़ला जी इस सदन में उत्तम तरीके से सभी चीजों को हैंडल करेंगे। जिसपर उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा है की हमें डर है कही ओम बिड़ला के इस बात का कोई दुरूपयोग न कर ले। साथ ही उन्होंने पूर्व स्पीकर सुमित्रा महाजन के बारें कहा की जब हम पिछले सत्र को याद करेंगे तो हमें सुमित्राजी का हमेशा मुस्कुराना और स्नेह से डांटना याद आएगा।

विपक्षी पार्टी कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा ओम बिड़ला के लोकसभा का स्पीकर बनने पर उन्हें हार्दिक शुभकामनायें दी। लोकसभा में सभी सांसदों के शपथ ग्रहण में जय श्री राम तथा वन्दे मातरम के नारे लागए गए। जिसपर उन्होंने कहा की जब मुल्ला को मस्जिद में राम नजर आएं, जब पुजारी को मंदिर में रहमान नजर आएं, दुनिया की सूरत बदल जाएगी, जब इंसान को इंसान में इंसान नजर आए।’

इन वजहों से ओम बिड़ला पहुँचे आज इस मुकाम पर

  • संघ, मोदी और शाह के करीब होने का मिला लाभ

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से स्पीकर ओम बिड़ला के काफी अच्छे सम्बन्ध है। इतना ही इन्हें बिहार व गुजरात राज्य के प्रभारी श्री भूपेंद्र यादव और उपराष्ट्रपति एम वैंकया नायडू का भी काफी करीबी माना जाता है। अमित शाह से इनके सम्बन्ध उस समय से काफी मजबूत है जिस समय भाजपा पार्टी की हालत उत्तर प्रदेश में अच्छे नहीं थे। काफी अधिक समय तक स्पीकर ओम बिड़ला अमित शाह के साथ दिल्ली में रहे। उस दौरान ओम बिड़ला जी को प्राक्कलन समिति, याचिका समिति, ऊर्जा संबंधी स्थायी समिति और सलाहकार समिति का सदस्य घोषित किया गया था।

  • राजस्थान में 25 सीटों का मिला लाभ

इस बार के लोकसभा चुनाव में राजस्थान के अंदर भारतीय जनता पार्टी 25 लोकसभा सीटें जीत पाने में कामियाब रही है। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी राजस्थान में अधिक सीटें जीत पाने में असफल रही थी। उस समय बीजेपी के सांसदों को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई थी। परन्तु इस वर्ष 3 सांसदों को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई है।

जाने किस दिन वर्ष 2019 का बजट पेश  

अगले महीने यानी 5 जुलाई को वर्ष 2019 का बजट पेश किया जाएगा। इसके अलावा, 20 जून को लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को राष्ट्रपति द्वारा सम्बोधित किया जाएगा। संसद का यह सत्र 26 जुलाई तक जारी रहेगा। वित्त मंत्रालय का आर्थिक सर्वेक्षण 4 जुलाई तथा 5 जुलाई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश किया जाएगा। निर्मला सीतारमण भारत की पहली महिला है जिन्होंने देश का वित्त मंत्री बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here