बाबा बर्फानी के दर्शन हेतु अमरनाथ यात्रा शुरू, सुरक्षा को ध्यान मे रखकर शुरू की ये नई योजना

0
107
amarnath yatra started, new schemes introduced for security measures

Amarnath Yatra – कल यानी के 30 जून 2019 से प्रतिवर्ष होने वाली बाबा बर्फानी की अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) को आरम्भ कर दिया है। इतना ही नहीं इस बार भारत सरकार द्वारा सभी श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए है। एक रिपोर्ट के अनुसार, इस बार बाबा बर्फानी यानी की अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) के लिए 7 हजार से अधिक श्रद्धालु हिमालय की गोदी में विराजमान बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए प्रस्थान का चुके है।

श्रद्धालु की वास्तविक संख्या ट्रैक करने हेतु शुरू की गई यह नई योजना

यदि आप भी बाबा बर्फानी के दर्शन हेतु Amarnath Yatra के लिए गए हुए है तो हम आपको बताना चाहते है की जम्मू कश्मीर से बालटाल बेस कैंप से इस यात्रा में शामिल होने वाले सभी श्रद्धालुओं को इस बार बारकोड वाली एक पर्ची कटवानी होगी। जिसके बाद ही वह इस अमरनाथ यात्रा के लिए आगे जा सकता है। क्या आप जानते है की इस बार क्यों अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) के लिए प्रस्थान करने हेतु बारकोड वाली पर्ची की प्रकिया शुरू की गई है। यह फैसला आपकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। इस बारकोड वाली पर्ची की सहायता से आपकी वास्तविक संख्या को आसानी से ट्रैक किया जा सकेगा।

कश्मीर घाटी व जम्मू के निकले इतने श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन हेतु

रविवार के दिन अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) का शुभारम्भ किया गया है। जिसमें पहली सूची में कश्मीर घाटी से करीबन 2 हजार से अधिक तीर्थयात्री बाबा बर्फानी के दर्शन हेतु निकल गए है। जबकि Amarnath Yatra के लिए दूसरी सूची में 4 हजार से अधिक श्रद्धालु जम्मू से बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए रवाना हुए है। सुरक्षा का ध्यान रखते हुए एक अधिकारी का कहना है की श्रीनगर से जम्मू के लिए अनुमति तब ही दी जाएगी। जब पहली व दूसरी सूची में गए श्रद्धालु जवाहर सुरंग से आगे नहीं चले जाते है। यदि हम अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) के लिए रवाना हुए उत्तरी कश्मीर के गांदरबल जिले में बालटाल आधार शिविर की बात करें तो वहा से करीबन 7500 बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए जा चुके है।

जाने सोमवार को कितने बच्चों, पुरुषों तथा महिलाओं ने किया अमरनाथ यात्रा की ओर प्रस्थान

बर्ष 2019 की यह अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) अगले महीने यानी की 15 अगस्त 2019 तक चलेगी।  इस बार की अमरनाथ यात्रा को लेकर एक अधिकारी का कहना है की सोमवार को शुरू हुई अमरनाथ यात्रा के लिए करीबन 31 बच्चे, 3,543 पुरुष के आलावा, 843 महिलाओं ने बाबा बर्फानी की गुफा की ओर प्रस्थान किया है।

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर इतने बजे के बाद नही होगी यातायात की अनुमति

इतना ही नहीं अधिकारी ने यह भी बताया है की अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) के लिए 1,617 तीर्थयात्री बालटाल आधार शिविर और 2,800 पहलगाम आधार शिविर गुफा की ओर निकलेंगे। साथ ही अधिकारीयों ने यह कहा है की जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर दोपहर 3.30 बजे के बाद किसी भी यातायात को अनुमति नहीं दी गई है। अधिकारियों ने यह फैसला इसलिए लिया है ताकि किसी भी श्रद्धालु को यात्रा के दौरान किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े।

बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए जाएंगे जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल

इस बार जम्मू एवं कश्मीर के माननीय राज्यपाल श्री सत्य पाल मलिक भी बाबा बर्फानी के दर्शन हेतु अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) के लिए रवाना होंगे।  राज्यपाल श्री सत्य पाल मलिक  श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के अध्यक्ष भी है। अमरनाथ गुफा में पहले दिन की सुबह ‘छड़ी मुबारक’ के आने के साथ शुरू की जाती है। बहुत कम लोग होंगे जो इस बारें में जानते होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here