कैसे बढ़ाएँ अपने शरीर की इम्युनिटी पावर, जानिए कुछ आयुर्वेदिक टिप्स

0
ayurvedic tips for immunity power

हमारे शरीर की लड़ने की शक्ति को इम्युनिटी कहते हैं यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता। इम्युनिटी ही शरीर में सभी तरीकों के इन्फेक्शन से लड़ती है, फेफड़ों के धुल साफ़ करती  और कैंसर जैसी  बड़ी बिमारियों से लड़ने में मदद करती है। इसके बारे में सबसे पहले दुनिया को एक रुसी वैज्ञानिक तथा एक फ्रेंच वैज्ञानिक लुइ पास्चर ने बताया था।इम्युनिटी दो प्रकार की होती है पहली होती है इनेट इम्युनिटी: यह व्यक्ति को रोगों के प्रति सुरक्षा देती है परन्तु यह दीर्घकालिक नहीं होती। दूसरी होती है एडेटिव इम्युनिटी ये घातक रोगों से देर तक सुरक्षा देती है।

कैसे कम होती है इम्युनिटी

हमारी भाग दौड़ भरी जिंदगी में हम अपने शरीर को जरुरी पोषण नहीं दे पाते , स्ट्रेस भरे जीवन का सीधा प्रभाव हमारे शरीर में पड़ता है। ऐसे कई कारण हैं जिनसे इम्युनिटी कम होती है आइये देखते हैं कुछ वजह जो कम करती है इम्युनिटी को।

स्ट्रेस भरा जीवन

Stressfull life

स्ट्रेस हमारे शरीर में प्रतिकूल प्रभाव डालता है, स्ट्रेस के कई लक्षण है जैसे सर दर्द, छाती में दर्द, गुस्सा आना, शरीर में दर्द इन सब वजहों के कारण हमारे इम्युनिटी सिस्टम को ज्यादा काम करना पड़ता है और कभी कभी वो काम करने में असफल हो जाता है। स्ट्रेस हमें अत्यधिक मोटा या अत्याधिक पतला बना सकता है।

आसीन जीवन शैली

sedentary lifestyle

आसीन जीवन शैली यानी ‘sedentary lifestyle ‘ कई बड़ी बिमारियों का कारण है। हमारी आसान होती जिंदगी और गलत खान पान से हमारा शरीर काम नहीं कर पाता और इसकी रोगों से लड़ने की शक्ति कम होती जाती है।

सही नींद न लेना

Not getting enough sleep

हमारा सोने का वक़्त सही होना चाहिए, अगर हम सही वक़्त पर न सोएं तो इसका शरीर पर गलत प्रभाव पड़ता है, रात देर तक जागने से हमारे शरीर को ज्यादा काम करना पड़ता है और इस से उच्च रक्तचाप और मधुमेय की बिमारी हो जाती है।

जानियें कैसे बढ़ाएं आयुर्वेद की मदद से इम्युनिटी:-

आयुर्वेद की कुछ तरीके अपना के हम अपनी रोगों से लड़ने की शक्ति को बढ़ा सकतें है , आईये जानते हैं कैसे।

1 बढ़ाएं शरीर का मेटाबोलिज्म

Increase body metabolism

मेटाबोलिज्म यानी की उपापचय, ये हमारे शरीर की खाना पचाने की शक्ति होती है। अगर आपका मेटाबोलिज्म सही है तो आपका खाना जल्द ही हजम हो जाएगा। मेटाबॉल्ज़िम अगर सही है तो शरीर में एसिडिटी और गैस की समस्या भी नहीं होगी। इसलिए जरुरी ये है आप ऐसा खाना खाये जिसे शरीर आसानी से पचा पाए इसके लिए आप अधिक से अधिक फाइबर लें और अधिक प्रोसेस्ड फूड और उत्तेजक पदार्थ न लें।

2  रसायन क्रिया

Chemical balancing

दवाइयों के मदद से जब इम्युनिटी पावर को बढ़ाते हैं तो उसे रसायन क्रिया कहते हैं। आयुर्वेद में ऐसी दवाईयां हैं जो आपकी इम्यून पावर को बढ़ा देती है और आपके शरीर को मजबूत बनाती है, इस क्रिया से आपके सभी अंग सुचारु रूप से काम करते हैं और त्वचा भी निखर जाती है।

3 सुधारें अपना डेली रूटीन

Improve your daily routine

डेली रूटीन को सुधार को आप कई बिमारियों को रोक सकतें हैं इसमें शामिल है समय पर उठना सोना और हमे बाथरूम भी समय पर जाना चाहिए इसके साथ ही हमे शरीर की मालिश भी करनी चाहिए, इस से हमारी बॉडी में एन्ज़ाइम्स निकलते हैं, इसी के साथ जरुरी है आप अपनी दिनचर्या में व्यायाम भी शामिल करें।

4 शोधन क्रिया

Rectification procedure

सोधन क्रिया शरीर की शुद्धि के लिए की जाती है, इसमें मुख्य तीन चीजों वात, पित्‍त, कफ को संतुलित किया जाता है। इसमें  वमन, विरेचना, नास्यम, रक्तमोक्षणा की क्रिया प्रमुख है।

❖ और पढ़ें:

रसीला फल ‘संतरा’ जानें कैसे है हमारे लिए उपयोगी, क्या हैं साइड इफेक्ट्स

डिप्रेशन से बाहर आने के लिए अपनाएँ ये आहार और डिप्रेशन को कहें गुड बाय

इन लोगों को नही खानें चाहिए बादाम, जानिए बादाम के फ़ायदे और नुकसान

भारत दौरे से पहले, ट्रम्प के साथ बड़ी डील भारत खरीदेगा 24 हाईटेक हेलीकॉप्टर

अपनाएँ रेनबो डाइट और भरें लाइफ में नए रंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here