Cafe Coffee Day के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ हुए लापता – जाने क्या कहा राज्य के पुलिस कमिश्नर ने

66
Cafe Coffee Day Founder Missing

Cafe Coffee Day Founder Missing – भारत के पूर्व विदेश मंत्री एसएम कृष्णा के दामाद श्री वीजी सिद्धार्थ लापता हो गए है बताया जा रहा है की वीजी सिद्धार्थ मैंगलुरु से लापता हुए है। हम आपको बता दें की वीजी सिद्धार्थ कैफे कॉफी डे के संस्थापक है। कहा जा रहा है की वीजी सिद्धार्थ को अंतिम बार नेत्रावति नदी के नजदीक देखा गया था। लेकिन काफी समय हो गया है अभी तक वीजी सिद्धार्थ का कुछ भी पता नहीं चल पाया है। फ़िलहाल वीजी सिद्धार्थ को ढूँढने का कार्य जारी है। जैसे ही सबको वीजी सिद्धार्थ के लापता होने की खबर का पता चल है उसके बाद से ही स्थानीय लोग एसएम कृष्णा के घर के बाहर आने लगे है। एसएम कृष्णा कर्नाटक के मुख्यमंत्री भी रह चुके है। वीजी सिद्धार्थ (Cafe Coffee Day Founder Missing) के लापता होने की खबर मिलते ही मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा समेत कई कांग्रेस पार्टी के नेता एसएम कृष्णा के निवास पहुँच गए है।

Cafe Coffee Day Founder Missing

कर्नाटक की पुलिस फाॅर्स द्वारा एसएम कृष्णा के दामाद सिद्धार्थ (Cafe Coffee Day Founder Missing) को खोजा जा रहा है। लेकिन अभी तक कोई भी सुराग पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है जिससे सिद्धार्थ के बारें में कुछ पता चल सके। इतना ही नहीं राज्य के पुलिस कर्मियों द्वारा उस नदी में भी सिद्धार्थ को खोजा रहा है जहाँ पर उन्हें अंतिम बार देखा गया था।

एसएम कृष्णा के दामाद सिद्धार्थ (Cafe Coffee Day Founder Missing) के लापता होने के बाद मैंगलुरु के पुलिस कमिश्नर श्री संदीप पाटिल द्वारा यह कहा गया है की सिद्धार्थ सोमवार यानी की 29 जुलाई 2019 को सकलेशपुर जाने के लिए बेंगलुरु से रवाना हुए थे। परन्तु उन्होंने अपने ड्राइवर से यह कहा था की वह बेंगलुरु नहीं बल्कि मैंगलुरु जाना चाहते है। जिसके बाद वह मैंगलुरु के नेत्रवति पुल आकर अपनी कार में से बाहर निकल गए। इसके बाद सिद्धार्थ ने अपने ड्राइवर से यह कहा है की वह गाडी लेकर आगे की ओर चलें जाए तथा वह गाडी तक चलकर आएंगे। उन्होंने यह भी कहा है की सिद्धार्थ की तलाशी की जा रही है इतना ही नहीं उनकी तलाशी के लिए डॉग स्क्वायड की सहायता भी ली जा रही है। इसके अलावा, जिस नदी के पास सिद्धार्थ को अंतिम बार देखा गया था वहां पर भी मछुआरों द्वारा उनको नदी में ढूँढा जा रहा है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया है की सिद्धार्थ ने अपने फ़ोन से अंतिम बार किस व्यक्ति से बात की थी उसको भी खोजा जा रहा है।

वर्ष 2017 में भारत की आयकर विभाग द्वारा सिद्धार्थ के ऑफिस पर छापा मारा गया था। क्या आपको पता है की सिद्धार्थ की गिनती भारत में मौजूद कॉपी बीन की सबसे अधिक सप्लाई करने वाले व्यक्तियों में की जाती है। बताया जा रहा है की सिद्धार्थ का परिवार लगभग 130 वर्षों से कॉफी के कारोबार में है। सिद्धार्थ माइंड ट्री में नॉन-एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर पद कार्यरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here