Flower Therapy से कैसे बढ़ाएं अपनी सुंदरता, जाने ये ख़ास टिप्स

2
flower therapy

फूलों की खुशबू तो सबको पसंद आती हैं, पर क्या आपको पता है फूल हमारी  सेहत के लिए भी अच्छे होते हैं । फूल न केवल डेकोरेशन बल्कि सौंदर्य और मानसिक समस्याओं के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। फ्लावर थेरेपी से हम अपने कई विकार फूलों की मदद से दूर कर सकते हैं ।

तो आइये जानते है कैसे आप कर सकतें हैं फूलों का इस्तेमाल ।

 

1. गुलाब का फूल ( Rose Flower)

गुलाब फूलों का राजा है । इसकी ख्याति तो हम सबको पता ही है पर क्या आपको पता है गुलाब हमारे शरीर का भी अच्छा दोस्त है । गुलाब से बने गुलाब जल का इस्तेमाल हम अपनी तव्चा का रंग निखारने के लिए कर सकते हैं । अगर आप गुलाब के फूल की पत्तियों को दूध में उबालकर पियेंगे तो आपको कब्ज से भी राहत मिल सकती है । होठों को गुलाबी करने के लिए भी आप गुलाब का इस्तेमाल कर सकतें हैं।

 

2. सूरजमुखी का फूल (Sun Flower)

flower therapy

सूरज मुखी यानी सनफ्लॉवर भी गुणों से भरा हुआ है , सूरजमुखी को नारियल तेल में डालकर इसे धूप में  रख लें कुछ दिनों बाद इस तेल को लगाने से त्वचा संबंधी रोग खत्म हो जाते हैं । सूरजमुखी के बीज उच्च रक्तचाप की बीमारी में खासे लाभदायक होतें हैं । इनमे विटामिन भी प्रचुर मात्रा में होता है । बुखार से लड़ने के लिए भी इसके बीज खासे असरकारक हैं । नियमित रूप से इसके बीज खाने से आपके दिल की सेहत भी अच्छी रहती है ।

 

3. गुड़हल का फूल (Hibiscus Flowers)

flower therapy

गुड़हल का फूल दिल के रोगों के लिए बहुत उपयोगी है । बालों को चमकदार बनाने के लिए गुड़हल के पत्तों को तेल में मिलाकर लगाने से बाल चमकदार होतें हैं। गुड़हल के सूखे हुए पत्ते खाने  से उच्च रक्तचाप में भी मदद  मिलती है ।

 

4. गेंदे के फूल (Marigold Flower)

flower therapy

गेंदे के फूल दिखने में जितने सुन्दर होते हैं उतने ही स्वास्थ वृद्धि में भी असरकारक हैं  । शरीर में स्फूर्ति के लिए गेंदे के पत्तों को बारीक काटकर 50 ग्राम शक्कर और 250  मिलिलीटर पानी में डालकर पिएं इस से शरीर में ताकत बनी रहती है ।  गेंदे के फूल को बालों में लगाने से चमक बनी रहती है ।

 

5. चमेली का फूल (Jasmine flower)

flower therapy

चमेली के फूल की महक ही उसकी ख़ास पहचान है पर आयुर्वेद में भी चमेली के कई सारे गुण बताये गए हैं । चमेली का इस्तेमाल आप चूर्ण और जूस के रूप में कर सकते हैं । चमेली के फूल तासीर में ठंडा होता है और दिमाग को शांत रखता है इसका इस्तेमाल आप सर दर्द  में कर सकते हैं। त्वचा को सुन्दर बनाने के लिए चमेली का फेस पैक भी लगा सकते हैं। त्वचा संबंधी रोग जैसे खुजली, इन्फेक्शन इत्यादि में भी ये फूल कारगर है ।

 

6. कमल का फूल (Lotus Flowers)

flower therapy

पित्त, गर्मी, रक्त विकार आदि के लिए कमल का फूल  और पत्तियों का उपयोग किया जाता है। कमल के फूल  की पंखुड़ियाँ और पत्तियों को पीसकर लेप को रात में सोते समय चेहरे पर लगाएँ और सुबह पानी से धोएँ , इस से  चेहरा निखरता है। कमल के फूल के सेवन से ह्रदय का तेजी से धड़कना कम होता है। कमल के फूल का शर्बत पीने  से शरीर की गर्मी कम होती है।कमल का चूर्ण शहद,  खड़ीशक़्कर के साथ लेने से रक्तातिसार(Anemia) का रोगी अच्छा होता है। कमल के फूल  का गुलकंद, इत्र भी  बनाया जाता है।

अधिक पढ़े

दिशा और आदित्य की फिल्म “मलंग” पर क्यों हुए गोवा के सीएम नाराज़ ?

पीएम मोदी पर दिया महेश भट्ट और जावेद अख्तर ने बड़ा बयान

स्मरण शक्ति बढ़ाकर बोर्ड एग्जाम में अच्छे नंबर दिला सकती है ये एक मुद्रा, आज से ही अभ्यास शुरू करें

सबसे ज़्यादा फीस वसूलने वाले बिग बॉस कंटेस्टेंटस की रकम सुन कर दंग रह जाएंगे।

पाना चाहते हैं एवरग्रीन फिटनेस फॉलो कीजिये अनिल कपूर के रूटीन टिप्स ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here