टीम इंडिया को मिली सेमीफ़ाइनल मे हार के बाद पहली बार बोले कोच रवि शास्त्री

0
36
ICC Cricket World Cup 2019

इंडिया टीम इस ICC Cricket World Cup 2019 में पहले सेमिफाइनल मैच में न्यूजलैंड के हाथों हारकर वर्ल्ड कप जीतने की रेस से बाहर हो गई है। न्यूजीलैंड ने टीम इंडिया को आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल मैच में 18 रनों से मात दी थी। ICC Cricket World Cup 2019 के यह मैच दो दिन तक चला था। क्योंकि बारिश चलते पहले दिन मैच नहीं हो पाया था। इसलिए मैच को रिजर्व डे तक ले जाना पड़ा। न्यूजीलैंड ने इस मैच में पहले बैटिंग करते हुए टीम इंडिया को 240 रनों का लक्ष्य दिया था। जिसके जवाब में टीम इंडिया 50 ओवरों में 222 रन ही बना पाई थी। टीम इंडिया को मिली इस सेमीफाइनल में हार के बाद टीम के कोच ने पहली बार टीम के लिए कुछ कहा है टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री का कहना है की जिस तरह टीम इंडिया पिछले दो साल से क्रिकेट खेल रही है। उसके लिए मुझे टीम इंडिया के हर एक खिलाड़ी पर बहुत अधिक गर्व है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है की सभी खिलाडियों को खुदपर गर्व करना चाहिए। की वह इतने समय तक लगातार अच्छा क्रिकेट खेलते आ रहे है। टीम इंडिया के खिलाडियों को निराश नहीं होना चाहिए। क्योंकि अभी उन्हें आगे कई अवसर मिलेंगे।

रवि का कहना है की 30 मिनट के खराब खेल को भूल जाना ही अच्छा है

एक न्यूज़ चैनल को दिए गए इंटरव्यू में रवि शास्त्री ने यह कहा है की टीम इंडिया (Team India) के सभी खिलाडियों को अपना सर ऊँचा करकर यहाँ से जाना चाहिए। आपको अपने दिमाग से यह बात निकाल देनी चाहिए की आप 30 मिनट खराब क्रिकेट खेलें है बल्कि आपको इस बात को हमेशा याद रखना चाहिए की आप पिछले दो वर्षों से कितना शानदार क्रिकेट खेलते आ रहे है। आप खुदको 30 मिनट के खराब खेल, एक ख़राब मैच, एक खराब सीरीज के चलते जज नहीं कर सकते है। इन सब बातों को छोड़कर आपको इस बात को ध्यान में रखना चाहिए की आपने कितने समय से टीम इंडिया के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इतना ही आपको आने वाले कई मैचों में अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखना है।

टीम इंडिया के भविष्य के लिए क्या कहा रवि ने

इसके अलावा, टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने भविष्य के लिए यह कहा है की इस समय हम दुखी और निराश जरूर है परन्तु टीम इंडिया के किसी भी खिलाडी के आँखों में आंसू नहीं है। ये एक बहुत मजबूत और शानदार टीम है। जो इस टीम ने कई बार अच्छे से साबित भी किया है। इस समय टीम इंडिया के पास दुनिया के सबसे अच्छी गेंदबाजी है। जो किसी भी टीम के बल्लेबाजों को परेशान कर सकती है।  टीम इंडिया के कुछ युवा खिलाडी टीम एक ऊर्जा प्रदान करते है।

यह हार एक कड़वी दवा है जिसे हमें निगलना ही होगा

इंटरव्यू के अंत में रवि शास्त्री ने यह कहा है की जब आपने पिछले 2 वर्षों से लगातार इतना कमाल का खेल दिखाया है तो आपको सेमीफाइनल में मिली हार बहुत तकलीफ देती है यह एक कड़वी दवा है इसे हमें अपनाना होगा। तथा हमें सोच विचार करना होगा की हम अपनी इन गलतियों को आने वाले मैचों में दुबारा न दोहराए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here