पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज़ सहवाग ने रोहित को बताया कोहली से बेहतर

0
13
India vs Bangladesh 2nd T20I

India vs Bangladesh 2nd T20I: बीते दिनों भारत और बांग्लादेश में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में कप्तान रोहित शर्मा ने अपनी तूफानी बल्लेबाज़ों से सबका दिल जीत लिया है, साथ ही दिल्ली में मिली हार का बदला भी ले लिया। रोहित शर्मा ने बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए दूसरे टी-20 मैच में शानदार 85 रनों की पारी खेलकर भारत को जीत दिलाई थी और तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली थी। इस पारी के बाद से पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग रोहित की स्कोरिंग रेट के मुरीद हो गए हैं। उन्होंने यहां तक बोल दिया है कि जब तेजी से रन बनाने की बात आती है तो टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली भी इस तरह की निरंतरता नहीं दिखा पाते, जिस तरह की रोहित दिखा रहे हैं।

पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने कहा  (India vs Bangladesh 2nd T20I)

क्रिकबज ने धाकड़ पूर्व बल्लेबाज़ सहवाग के हवाले से लिखा है, “एक ओवर में तीन-चार छक्के मारना और 45 गेंदों पर 80-90 रन बनाना एक कला है जो मैंने विराट में भी उतनी निरंतरता से नहीं देखी जितनी रोहित में है।”

सहवाग का कहना है कि, “सचिन हमेशा कहा करते थे कि जो मैं मैदान पर कर सकता हूं वो आप क्यों नहीं कर सकते? लेकिन उन्होंने इस बात को कभी नहीं समझा कि भगवान सिर्फ एक ही होता है।”

मैच के बाद रोहित शर्मा का बयान

गुरुवार रात को भारत और बांग्लादेश के बीच खेला गया मैच भारतीय कप्तान रोहित शर्मा के करियर का 100वां अंतर्राष्ट्रीय मैच था। उन्होंने इस मैच में 43 गेंदों पर 85 रनों की शानदार पारी खेली थी। इस मैच में उन्हें “मैन ऑफ द मैच” भी चुना गया। रोहित मैच के बाद चहल टीवी पर आए जहां भारत के ही लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने उनसे बात की।

चाहते थे युवराज का रिकॉर्ड तोडना

इस मैच में लगातार तीन छक्कों पर रोहित ने कहा, “मैंने जब लगातार तीन छक्के मारे तो मैं एक और मारने के लिए गया। लेकिन मैं चौथे पर चूक गया। मैंने फैसला किया कि मैं एक रन लूंगा। आपको बड़े छक्के मारने के लिए भारी भरकम शरीर नहीं चाहिए। आप (चहल) भी छक्के मार सकते हो। ताकत की जरूरत नहीं है, बल्कि आपको टाइमिंग की जरूरत है। गेंद को बल्ले के बीच में लगना चाहिए और आपका सिर स्थिर रहना चाहिए।”

इस बारे में रोहित ने चहल टीवी को आगे बात करते हुए कहा कि उनका इरादा तो छह छक्के मारने का ही था। ‘जब मैंने तीन लगातार छक्के लगाए तो फिर मेरी कोशिश छह छक्के मारने की थी, लेकिन चौथी गेंद पर मैं चूक गया इसके बाद मैंने एक रन लेने का फैसला किया।’

मैन ऑफ द मैच बने रोहित ने कहा, ‘मैंने हमेशा ही बल्ले से अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश की है। मुझे पता है कि राजकोट की पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी थी, जबकि दूसरी पारी में गेंदबाजों सही नहीं थी। मैं चाहता था कि पिच पर रुककर और ज्यादा गेंद खेलूं। 2019 अब तक बहुत अच्छा रहा है। बस इसे अच्छी सफलता के साथ खत्म करना चाहता हूं।’

“India vs Bangladesh 2nd T20I”

⸎ इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें

☞ रोहित की तूफानी पारी के आगे बांग्लादेश की टीम ने टेके घुटने, सीरीज को किया 1-1 से बराबर

☞ India vs Bangladesh: बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में भारतीय टीम में हो सकते है ये बदलाव

☞ क्रिकेट के बाद अब टेनिस में चैंपियन बनने की तैयारी कर रहे धोनी

☞ India Vs Bangladesh: राजकोट में खेले जाने वाले दूसरे टी-20 मैच पर मंडरा रहे संकट के बादल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here