क्या आपसी मतभेद की वजह से विराट ने किया रोहित को बाहर?

21
India vs west indies

India vs west indies: हम सभी जानते है कि हमारे देश में क्रिकेट को सिर्फ खेल नहीं माना जाता हैं बल्कि यह एक जुनून है जो देश के लोगों की रगों में बहता हैं। खेल में हुई कोई भी हार-जीत सीधा लोगों को प्रभावित करती हैं। क्रिकेट टीम में हुए कोई भी बदलाव पर भारतीय फैंस की प्रतिक्रिया देखने को मिलती हैं। पिछले कुछ दिनों से वेस्टइंडीज के साथ होने वाले टेस्ट मैच के प्लेइंग एलेवेन को लेकर ऐसी ही बहस चल रही थी जिसमे भारतीय फैंस से लेकर दिग्गज खिलाड़ी तक अपनी राय दे रहे थे। बहस का विषय था कि क्या रोहित शर्मा को प्लेइंग एलेवेन से बाहर करना सही होगा या गलत?

दरअसल, भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो टेस्ट मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जानी है जिसकी शुरुआत कल यानि 22 अगस्त से हो गयी हैं। वेस्टइंडीज स्थित एंटिगा के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में यह मैच खेला जा रहा है जिसकी शुरुआत भारतीय समयानुसार शाम 7 बजे से हो गईा है। इस मैच से पहले ये चर्चाएं ज़ोरों पर थी कि टीम इंडिया के टी20 और वनडे फॉरमैट में उप-कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज रोहित शर्मा या फिर टेस्ट टीम के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे में से किसे प्लेइंग इलेवन में से बाहर बिठाया जाएगा।

वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच खेलने उतरी भारतीय क्रिकेट टीम के प्लेइंग इलेवन में महान बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को शामिल नहीं किया गया और इसी के साथ भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इस बहस पर विराम लगाया। ज़बरदस्र्त फॉर्म में चल रहे रोहित शर्मा को बाहर बिठाने का फैसला कई बड़े क्रिकटरों समेत भारतीय फैंस को रास नहीं आया। टेस्ट सीरीज से पहले खेले गए तीन दिवसीय अभ्यास मैच में रोहित शर्मा ने अपने बेहतर प्रदर्शन को जारी रखते हुए अर्धशतक लगाया था। उन्होंने अपने बल्ले से सबको बता दिया था कि वो टेस्ट मैच खेलने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। इसके बावजूद उन्हें टीम में जगह नहीं दी गयी।

अजिंक्य रहाणे को रोहित शर्मा की जगह टीम के उप-कप्तान के रूप में लिया गया हैं जो पहले टेस्ट में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए उतरे। अपनी फॉर्म से सबको चौकाने वाले रोहित शर्मा ने बीते विश्व कप में पांच शतक लगाए थे तो यही उम्मीद की जा रही थी कि उन्हें टेस्ट मैच में जरूर शामिल किया जाएगा। ऐसा लगता हैं वो कप्तान विराट की उम्मीदों पर ख़रा नहीं उतर पाएं इसलिए उन्हें टीम से बाहर रखा गया हैं। पहला टेस्ट मैच शुरू होने से पहले कई पूर्व दिग्गज रोहित के पक्ष में नज़र आये थे जिनमे वीरेंद्र सहवाग, सौरव गांगुली और शोएब अख्तर जैसे खिलाडियों का नाम शामिल हैं। इन सबके बावजूद भी टीम मैनेजमेंट और कप्तान विराट ने रोहित को प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं दिया।

कप्तान विराट कोहली के फैसले ने फिर इस अफवाह को हवा दे दी हैं कि क्या आपसी मतभेद के चलते ही विराट ने रोहित को प्लेइंग इलेवन से बाहर किया हैं। इस टेस्ट मैच के लिए टीम का चुनाव करते समय रोहित के बेहतरीन प्रदर्शन को विराट ने पूरी तरह नजरअंदाज किया गया है।

भारतीय टीम के कप्तान कोहली के इस फैसले से प्रशंसक काफी नाराज लग रहे हैं। वर्ल्ड कप 2019 सेमीफाइनल में हार के बाद से ही रोहित और विराट के बीच आपसी मतभेद की खबरें सामने आई थीं हालांकि जिससे पूरी तरह से नकार दिया गया था। इस मामले में विराट कोहली की तरफ से कहा गया था कि यदि ऐसा होता तो हम नंबर वन टीम नहीं होते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here