Wed. Jan 29th, 2020

आज तैनात होगा भारत का पहरेदार अंतरिक्ष मे। ( India’s guard will be deployed today in space)

latest space satellite

आज भारत  अंतरिक्ष मे अपना नया पहरेदार यानी की उपग्रह RISAT 2 BR1 छोड़ने वाला हैं। यह बहुत ही शक्तिशाली उपग्रह हैं। जिसकी उलटी गिनती शाम को शुरू होगी। इस उपग्रह से भारत अपने पडोसी देशो पर नज़र रख सकेगा।

❍ आइये जानते हैं उपग्रह RISAT 2 BR1।

1. यह उपग्रह श्री हरिकोटा से पोलर सॅटॅलाइट लॉच व्हीकल (PSLV C-48) राकेट से छोड़ा जायेगा।

2. RISAT 2 एक रडार इमेजिंग पृथ्वी अवलोकन उपग्रह हैं।

3. इसरो ने भारत की बॉर्डर्स की सुरक्षा के लिहाज़ से और सीमाओं की निगरानी के लिए 4 से 5 बढ़िया RISAT    उपग्रह की एक सीरीज की योजना बनाई है।

4. RISAT 2 BR1 RISAT सीरीज का दूसरा उपग्रह हैं।

5. RISAT 2 उपग्रह बदलो मे से और रात को भी अपना काम बखूभी कर सकता हैं

6. भारत की सीमओ पर बढ़ती घुसपैठ को निगरानी करने लिए 24 घंटे मदद करेगा।  भारत के बहार हो रही देश गतिविधियों पर बखूबी नज़र रखेगा।

7. 11 दिसंबर को RISAT 2  BR1 के लॉच के बाद इसरो इस महीने के दूसरी छिमाही मे RISAT BR 2  लांच करैगा।

8. पोलर सॅटॅलाइट लॉच व्हीकल की यह 50 वी उड़ान होग़ी।,

9. इसरो के अध्यक्ष ने कहा हम मार्च 2020 तक 13 मिशन 6 राकेट लॉच और 7 उपग्रह मिशन लांच करने का लक्ष्य बना रहे हैं।

10. इसरो के द्वारा बनाया गया RISAT 2 BR 1 एक सिंथेटिक अपचर रडार हैं जो देश की टोही शक्ति  बड़ाई जायगी।
11. इसको रिकॉर्ड 13  महीने की अवधि मैं ही बनाया गया हैं।

12. यह रडार घने बदलो को 1 मीटर तक भेद कर तस्वीर ले सकता हैं।

13. इसे आतकवादियो के चल रहे कैंप पर नज़र रखने मे बहुत मदद मिलेगी।

14. धरती पर किसी की भी तस्वीर यह दो से तीन बार ले सकता हैं।

❍ सर्जिकल स्ट्राइक मैं की थी मदद ।

RISAT 2 BR1 से पहले RISAT 1 BR1 ने भी खूब मदद की थी। सर्जिकल स्ट्राइक मे। 2008 मुंबई हमले के बाद भारत सरकार ने ऐसे उपग्रह की इच्छा जातई जिसे दुश्मनो की हरकत पर नज़र रखी जा सके। भारत ने 20 अप्रैल  2009  को इसे लांच किया था और  2016 की सर्जिकल स्ट्राइक मैं इसका बहुत फायदा मिला।  फिर 2019 एयर स्ट्राइक मे इसका यह बहुत काम आया।

इजराइल मे बने इस उपग्रह को मुंबई हमले के बाद से बहुत जरुरी माना गया और इसे अंतरिक्ष मे छोड़ा गया यह जो लांच हो रहा उसी सीरीज का दूसरा उपग्रह हैं।

❖ और पढ़ें:


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *