Japan Suicide Forest in Hindi: जानिए, क्यों कहते है इस जंगल को सुसाइड फॉरेस्ट।

0
31
Japan Suicide Forest

Japan Suicide Forest in Hindi: सुसाइड ये शब्द सुनते है हमारे अंदर एक खौफ या डर पैदा हो जाता है। यह एक ऐसा विचार है जिससे सभी दूर रहना पसंद करते हैं। आज हम आपको ऐसी जगह से रूबरू कराएँगे जिसके बारे में शायद आपने सुना भी नहीं होगा। हम बात कर रहे है एक जंगल के बारे में, जो पूरी दुनिया में मशहूर है और इसे लोग सुसाइड फॉरेस्ट (Japan Suicide Forest) के नाम से जानते हैं। इस नाम से इस जंगल को बुलाने के पीछे एक राज़ है जिसका खुलासा हम आगे करेंगे। यही कारण है इसे पूरे वर्ल्ड में सुसाइड फॉरेस्ट के नाम से जाना जाता है।

आपको इस जंगल में प्रवेश करते समय बोर्ड्स पर कुछ ऐसा लिखा हुआ मिलेगा, जिसे पढ़ने के बाद आपका अंदर जाने का मन नहीं करेगा। ये हरा-भरा सुंदर सा दिखने वाला जंगल अपने अंदर अनेक डरावनी कहानियां समेटे बैठा हुआ हैं। चलिए जानते हैं सुसाइड फॉरेस्ट (Japan Suicide Forest) के बारे में।

Japan Suicide Forest in Hindi

सुसाइड फॉरेस्ट लोकेशन

यह नॉर्थवेस्ट में माउंट फूजी में स्थित है सुसाइड फॉरेस्ट। यह 35 स्क्वेयर किमी के बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। यह जंगल इतना विशाल और घना है कि इसे “पेड़ों का सागर” भी कहा जाता हैं। जंगल में खो जाना एक साधारण बात है। इस जंगल के बारे में ऐसा कहते है कि एक बार जो इस जंगल में जाता है उसका लौटकर आना बेहद मुश्किल होता है। यह दुनिया के सबसे मशहूर सुसाइड स्थानों में दूसरे नंबर पर आता है।आपको बता दें कि पहला गोल्डेन गेट है। जापान की राजधानी टोक्यो से इस जंगल की दूरी महज दो घंटे से कम है।

सुसाइड फॉरेस्ट में प्रवेश करते टाइम यह पढ़ने ना भूले –

जापान के इस जंगल में एंट्री करते समय आपको एक मैसेज लिखा दिखाई देगा जिसे पढ़ना आपके लिए बेहद जरुरी हैं। “ध्यान से अपने बच्चों, परिवार और अपने जीवन के बारे में सोचें जो कि आपके माता-पिता का दिया अनमोल तोहफा है।“ जिस जंगल में प्रवेश से पहले ही आपको ऐसी मैसेज द्वारा सावधान किया जाए तो क्या आप वहां जाना पसंद करेंगे।

सुसाइड फॉरेस्ट जाते वक्त ध्यान रखें इन बातों को

यह जंगल प्राकृतिक रूप से बहुत ही खूबसूरत है, लोग इस जंगल में दूर-दूर से घूमने आते हैं।यहाँ लोग अकेले नहीं आते है।यहां घूमने आने वाले लोग अपने साथ प्लास्टिक टेप रखना नहीं भूलते हैं। जंगल में रास्ता याद को रखने के लिए पेड़ों पर प्लास्टिक टेप बांधते हुए चलते हैं और इन सबके अलावा यहां करीब 300 साल पुराने अद्भुत पेड़ भी पाए जाते हैं।

सुसाइड फॉरेस्ट में घूमते समय आपको कभी भी इधर-उधर भटकने की कोशिश बिल्कुल नहीं करनी चाहिए और साथ ही हमेशा निशान पीछे छोड़ते चलने चाहिए। हमेशा प्लास्टिक टेप या रिबन मार्कर को हमेशा अपने साथ रखे। रात के समय किसी को भी इस जंगल में घूमने नही जाना चाहिए।

सुसाइड फॉरेस्ट से जुड़ी है डरावनी कहानियां

ऐसा माना गया है कि इस जंगल में मरे हुए लोगों की आत्माएं भटकती रहती हैं। जापानी पौराणिक कथाओं के अनुसार, इस जंगल में मरे हुए लोगों की आत्माएं निवास करती हैं। ऐसा कहा जाता है कि यहां साल 2003 से अब तक लगभग 105 के शव बरामद किये जा चुके हैं।इनमें से अधिकतर शव बुरी-तरह से सड़ चुके थे और कुछ को जानवरों ने खा लिया था।

जापान की धार्मिक मान्यताओं और विश्वास के आधार पर लोगों का मानना है कि इस जंगल में हुई अकाल मौत और आत्महत्याओं के कारण से यहां पैरानॉर्मल ऐक्टिविटीज काफी बढ़ गई हैं। इस जंगल की सबसे बड़ी समस्या यह है कि यहां कोई भी आधुनिक तकनीक जैसे कम्पस, मोबाइल फोन आदि काम नहीं करते हैं। यहाँ पर कम्पस से अजीब डायरेक्शन दिखती हैं जिसकी वजह से लोग दिशा भटक जाते हैं।

इस जंगल में पहुंचने के साथ ही मोबाइल फोन से भी सिग्नल गायब हो जाते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है कि इस इलाके में जो मिटटी है उसमें मैग्निटेक आयरन मौजूद हैं इसलिए इस जंगल में जाने के बाद वापस लौट कर आना बेहद मुश्किल है।

अगर आप भी रोमांच और एडवेंचर के शौक़ीन है तो इस सुसाइड जंगल में घूमने आ सकते है, लेकिन यहाँ पर हमारे द्वारा बताई गयी बातों का जरूर ध्यान रखें।

इसे जरूर पढ़ें: ये 7 जगहें जो आपको कराएंगी भूतिया शक्ति का एहसास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here