गर्मियों में होने वाली इन 5 खतरनाक बीमारियों से रखें अपने आपको सावधान – जाने क्या है बचाव

94
health

इस समय पुरे भारत में भीषण गर्मी का प्रकोप देखने को मिल रहा है। क्या आपको पता है की इस गर्मी में आपको भी कई प्रकार की बिमारियों का सामना करना पड़ सकता है। इतना ही नहीं कुछ बीमारियाँ को इतनी खतरनाक होती है की उनसे पार पाना काफी मुश्किल होता है। यदि आप गर्मियों में होने वाली बिमारियों के पहले ही सावधान रहे तो इन बिमारियों से बचा जा सकता है।

1. चेचक

जैसी ही गर्मी बढ़ती है तो चेचक जैसे बीमारी होने का खतरा बढ़ता रहता है। इस बीमारी के लक्षण बहुत प्रकार से देखने को मिलते है जैसे की यदि किसी व्यक्ति को यह बीमारी होती है। तो उसके शरीर पर आपको लाल रंग के निशान देखने को मिलेंगे। तथा सिरदर्द और बुखार भी होता है। साथ ही जब यह रोग किसी व्यक्ति को होता है। तो उसको सबसे पहले गले में खराश की परेशानी होती है। इसके साथ ही उसे खांसी भी होती है। अगर आप इस खतरनाक बीमारी से अपने आपको बचाना चाहते है तो आपको इसकी दवाइयों को नियमित रूप से खाना चाहिए। और जब आप बाहर से घर में आते हो तो आपको सबसे पहले अपने हाथ और पैरों को अच्छे से धोना चाहिए।

2. पीलिया

अधिक गर्मी में पीलिये जैसी बीमारी होने के आसार भी बढ़ जाते है। इस बीमारी के कारण आपके शरीर में खून की कमी होने लगती है। जिसके चलते आपका शरीर धीरे – धीरे पीला पड़ने लग जाता है। साथ ही इस रोग का आसार आपके पाचन तंत्र पर भी पड़ता है। क्योंकि इस बीमारी के चलते आपका पाचन तंत्र कमजोर होने लगता है। इसलिए आपको कोशिश करनी चाहिए की दूषित खाने से दूर रहा जाए। तथा आपको अपने आस – पास साफ़- सफाई रखनी चाहिए। सबसे अहम बात कोशिश करे की खाने में तेल का सेवन न हो। खाने को उबालकर खाएं।

3. खसरा

यह एक ऐसी बीमारी है जो साँस के जरिए फैलती है। इस बीमारी को होने का खतरा सबसे अधिक छोटे बच्चों को होता है। यदि कोई व्यक्ति इस रोग से पीड़ित है तो उसे अन्य घर के लोगों से दूर रहना चाहिए। इस बीमारी के होने का लक्षण यह होता है की आपके शरीर पर छोटे-छोटे लाल रंग के दाने होने लग जाते है। पेंच आपको इसकलिये ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि टीकाकरण के चलते इस बीमारी का इलाज संभव है।

4. घेंघा

घेंघा के मरीजों की संख्या गर्मियों के मौसम में आदिक देखने को मिलती है। यह बीमारी थॉयराइड ग्लैंड के बढ़ने से होती है। इस बीमारी के दौरान गर्दन पर सूजन आने लग जाती है। तथा पीड़ित को साँस लेने में अधिक परेशानी होती है।

5. टायफॉइड

यदि किसी व्यक्ति को टायफॉइड होता है तो उसे समय रहते ही इस बीमारी का इलाज करवा लेना चाहिए। क्योंकि आगे चलकर यह बीमारी बेहद खतरनाक साबित हो सकती है। यदि किसी व्यक्ति को तेज बुखार, भूख का न लगाना, हर समय उलटी आना और खाँसी जुकाम हो तो समझ जाइए की वे व्यक्ति टायफॉइड से पीड़ित है। इस बीमारी के दौरान आपको हेल्थी फ़ूड का सेवन करना होगा। तथा स्वच्छता का ख्याल रखना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here