जाने क्या है “सुकन्या समृद्धि योजना” कैसे लें इस योजना का लाभ

1
sukanya samriddhi yojana

पैसा ही पैसे को बढाता है , ये वाक्य आपने कहीं न कहीं जरूर सुना होगा। आम आदमी के पास पैसे निवेश करने के कुछ ही तरीके होते हैं। स्टॉक मार्केट में वही लोग निवेश कर सकतें हैं जिनको इसका पुराना तजुर्बा हो। आज हम आपके लिए ऐसी सरकारी स्कीम लेकर आएं हैं जिसमें आप मात्र 250 रुपये से भी शुरुआत कर सकतें हैं।  इस स्कीम का नाम हैं सुकन्या समृद्धि योजना।

❒  क्या है यह योजना

यह योजना सरकार द्वारा 2015 में लॉंच की गई थी। यह एक छोटी बचत योजना है, जिसे केंद्र सरकार ने “बेटी बचाओ  बेटी पढ़ाओ”  के अंतर्गत रखा है। बहुत कम रकम के साथ खुलने वाला सुकन्या समृद्धि योजना खाता दरअसल उन परिवारों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है जो छोटी-छोटी बचत के जरिये बच्चे की शादी या उच्च शिक्षा के लिए रकम जमा करना चाहते हैं। इसमें ब्याज दर अन्य योजनाओं से ज्यादा मिलता है। साल 2016-17 में 9.1 ब्याज दर मिला था। इस योजना में खाता लड़कियों के नाम पर ही खोला जा सकता है। 10 साल से कम सभी लड़कियों का खाता इस योजना में खोला जा सकता है। खाता आप निकट के किसी पोस्ट ऑफिस या किसी भी बैंक की अधिकृत शाखा में खोल सकतें हैं। खाता खुलवाने के लिए बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र जरुरी होता है। इसमें न्यूनतम 250 और अधिकतम डेढ़ लाख रूपए सालाना भरना जरुरी है।

सुकन्या समृद्धि योजना खाते से 18 साल की उम्र के बाद बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है। यह योजना केवल 15 साल तक ही चलाई जा सकती है, मतलब 9 साल की बच्ची के खाते में आप 24 साल तक ही पैसे डाल सकते हैं। उसके बाद आपको ये रकम 5 साल बाद मैच्योर होने पर ही मिलेगी ।

❒ कैसे करें पैसे जमा

इस खाते में पैसा जमा करने के लिए आप किसी भी तरीके का इस्तेमाल कर सकते हैं कैश,चेक,डिमांड ड्राफ्ट से आप भुगतान कर सकतें हैं। अगर आपके बैंक के पास कोर बैंकिंग सिस्टम है तो आप ऑनलाइन तरीके से भी पैमेंट कर सकते हैं ।

अगर आप किसी वर्ष पैसे नहीं जमा कर पाए तो  मात्र 50 रूपए देकर अपना खाता नियमित कर सकतें हैं। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आपको साधरण बचत खाते की दर से केवल 4 फीसदी ही सालाना ब्याज मिलेगा।

❒ कब कर सकतें हैं खाता बंद

इस योजना में खाता बंद लड़की की मृत्यु के बाद कर सकतें है,  इसके लिए बैंक में मृत्यु प्रमाण पत्र देना जरुरी है। इसके बाद ब्याज़ सहित सारा पैसा खाताधारक के अभिवावक को दे दिया जाता है। लाइलाज बीमारी के चलते भी यह खाता बंद किया जा सकता है। अगर दूसरे किसी कारण से खाता बंद हो रहा है तो ब्याज साधारण खाते के हिसाब से मिलेगा ।

❒ कैसे मिलेगा पैसा।

पैसे का भुगतान केवल खाताधारक के अभिवावक को उनका पहचान पात्र देखने के बाद ही किया जाएगा। पैसे का भुगतान वैसे तो होम ब्रांच से ही होगा पर अगर आप ने अपना निवास स्थान बदल लिया है तो आप अर्जी डालकर भुगतान की जगह बदल सकतें हैं। इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भी पैसे ट्रांसफर किये जा सकतें हैं।

लेकिन इस के साथ कुछ शर्तें भी हैं, इस खाते को केवल भारतीय ही खोल सकतें हैं। अगर खाताधारक की शादी खाता खोलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो जाती है तो खाते में रकम जमा नहीं कराई जा सकती। अप्रवासी भारतीय भी इस खाते को नहीं खोल सकते। अगर कोई कन्या खाता खोलने के बाद विदेश चली जाती है तो उसे ब्याज मिलना बंद हो जाएगा। अंतिम भुगतान के वक़्त पासबुक बैंक में जमा करवानी पड़ेगी । 

अधिक पढ़े

ताज पैलेस : झील के बीच एक सुन्दर महल जहाँ आप एक बार जरूर जाना चाहेंगे

शिल्पा शिंदे ने लगाया सिद्धार्थ शुक्ला पर बड़ा आरोप

आपस में ही लड़ पड़े कांग्रेस नेता, केजरीवाल बनें वजह

ट्रम्प की झूठी बातों से परेशान हुए अटॉर्नी जनरल, दिया बड़ा बयान

सैफ अली खान का बड़ा खुलासा, बताई करीना को डेट करने की असली वजह।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here