पाकिस्तान ने चली नई चाल, FATF की करवाई से बचने के लिए हाफ़िज़ सईद के खिलाफ दिखावटी कार्यवाही

1
fatf pakistan

बुधवार को एक पाकिस्तानी कोर्ट ने कुख्यात पाकिस्तानी आतंकवादी हाफीज़ सईद को आतंकवादी सम्बंधित गतिविधियों के लिए 11 साल की सजा सुनाई थी , पर भारत में इस कदम का खासा स्वागत नहीं हुआ है । इसकी वजह ये है की अभी अंतराष्ट्रीय लेवल पर फाइनेंसियल एक्शन टास्क फाॅर्स की एक मीटिंग होने वाली है , ये टास्क फाॅर्स आतंकवाद पर नजर रखती है । इसकी मीटिंग पेरिस में होने वाली है और यहाँ पर हफ़ीज़ सईद को ब्लैकलिस्ट होने से बचाने के लिए पाकिस्तान ने ये कदम उठाया है । पाकिस्तान इस झूठी कार्यवाही को FATF के सामने पेश करके हफ़ीज़ सईद को ब्लैक लिस्ट होने से बचाना चाह रहा है ।

भारत से भी इसका जवाब आया है , सूत्रों के मुताबिक़ भारत पकिस्तान की ऐसी दिखावटी बातों को तवज़्ज़ो नहीं देता है ,पकिस्तान आतंकवाद की जड़ है और हमेशा आतंकवाद को बढ़ावा देता है , आतंकवाद को लेकर उसका रवैय्या बहुत ही लचर रहा है। और भारत ऐसे फरेब में नहीं आयेगा , पकिस्तान FATF की आँखों में धूल झोंककर आतंक के ठिकानों को पालना चाहता है पर भारत अंतराष्ट्रीय समूहों में पकिस्तान के उस दोगले चेहरे को हमेशा बेनकाब करता रहेगा ।

कौन है हफ़ीज़ सईद

हफ़ीज़ सईद एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर का आतंकवादी है । यूनाइटेड नेशन ने उसे आतंकवादी घोषित कर हुआ है । अमेरिका ने उसके सर पर एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा हुआ है । हफ़ीज़ सईद हमेशा अपने भड़काऊ भाषणों से बदनाम रहा है , वह लश्कर ऐ तैयब्बा और जमात उल दवा जैसे आतंकवादी संगठनो का चीफ है । भारत समेत कई बड़े देशों ने इसकी संगठन को बैन कर रखा है। 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले में हफ़ीज़ सईद की मुख्य भूमिका थी । इस हमले में 164 लोगों ने अपनी जान गवाई थी । भारत की दलील है , हाफिज़् को उसके हवाले कर दिया जाए पर पकिस्तान हमेशा हफ़ीज़ के बचाव में रहता है ।

अधिक पढ़े

RCB ने सोशल मीडिया पर किया कुछ ऐसा की विराट कोहली सहित कई भारतीय क्रिकेटर हैं परेशान

हॉलीवुड के बड़े सितारे है बिग बॉस के फैन , कर रहे है कंटेस्टेंट्स को सोशल मीडिया पर फॉलो

दुबई के शेख रखते है ऐसे शौक जिनके बारे में जानकर आप दंग रह जाएंगे

चीन के वुहान शहर से डराने वाली सैटेलाइट तस्वीरें, देख कर चौंक जाएंगे आप

दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट के बाद  जश्न मना रहे आप विधायक पर जानलेवा हमला, कार्यकर्ता की हुई मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here