ज्यादा नमक खाने की आदत आपको कर सकती है बीमार, हो जाए सावधान

500
Salt's Harmful Effects On Your Body

Salt’s Harmful Effects On Your Body: क्या आपको नमक तेज़ खाने की आदत है? खाने में नमक की कमी होने पर आपको खाना बेस्वाद लगता है? शायद ही आपको पता होगा कि नमक के ज्यादा सेवन से आपको कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए यह जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि आपको दिनभर में कितनी मात्रा में नमक खाना चाहिए ताकि आप स्वस्थ रहें। हम अक्सर तय मात्रा से अधिक नमक खा जाते हैं और हमें इस बात का पता ही नहीं होता है। चलिए जानते हैं आपको दिनभर में कितना नमक खाना चाहिए।

ज्यादा नमक से होने वाली बीमारियां (Salt’s Harmful Effects On Your Body)

नमक स्वाद और सेहत के लिए जरूरी है लेकिन अगर ज्यादा मात्रा में खाया जाए तो यह हाई ब्लड प्रेशर से लेकर दिल की बीमारी तक कई गंभीर बींमारियों का कारण बनता है। आपको बता दे, यह भी सच है कि स्वस्थ रक्तचाप के लिए सोडियम की मात्रा जरूरी है। ऐसे में आपको फिट रहने के लिए रोज सीमित मात्रा में ही नमक का सेवन करना चाहिए।

अमेरीकन हार्ट एसोसिएशन (एएचए) का कहना है कि “हर व्यक्ति को दिनभर में  2,300 मिलीग्राम ही नमक का सेवन करना चाहिए। यह मात्रा ज्यादा नमक खाने वालों के लिए है जबकि रोज नमक की आदर्श मात्रा 1,500 मिलीग्राम से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। लेकिन हम इस बात पर गौर नहीं करते हैं और हाई ब्लड प्रेशर के शिकार हो जाते हैं।”

एएचए ने कहा है कि हर रोज अमेरिका के लोग 3,400 मिलीग्राम नमक का सेवन करते हैं जो कि तय मात्रा से अधिक है। 70 फीसदी लोग पैकेट में बंद खाद्य पदार्थों के जरिए नमक की इस मात्रा का सेवन करते हैं। हमारे देश में भी चिप्स से लेकर दूसरे पैकेट बंद खाद्य पदार्थों के द्वारा हम तय मात्रा से ज्यादा नमक का सेवन करते रहते हैं जो कि सेहत के लिए हानिकारक है। ज्यादा नमक खाने से आप कई बीमारियां की चपेट में आ सकते हैं।

दिल की बीमारियों का खतरा

अधिक मात्रा नमक का ज्यादा सेवन दिल की बीमारियों के खतरे को कई गुना बढ़ा देता है। इसके साथ ही, ज्यादा नमक खाने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी उत्पन्न होने लगती है। अगर आप तय मात्रा से ज्यादा नमक खाते हैं तो आपको डिहाइड्रेशन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

इंसान के शरीर में नमक की मात्रा ज्यादा होने पर पानी जरूरत से ज्यादा जमा हो जाता है। इस स्थिति को वाटर रिटेंशन या फ्लूड रिटेंशन कहते है। ऐसी स्थिति में हाथ, पैर और चेहरे में सूजन आ सकती है। आपको बता दे, यहां एक बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि अगर आप तय मात्रा से कम नमक लेते हैं तो भी आप बीमार हो सकते हैं।

ज्यादा नमक क्यों बनता है बीमारी का कारण?

एक प्राकृतिक तत्व है नमक जिसमें सोडियम और क्लोरीन तत्व होते हैं। जब आप नमक का सेवन करते हैं तो यह शरीर में इन ही दो घटकों में बँट जाता है। अगर आपके शरीर में नमक की कमी होती है तो आपको सुस्ती और थकन के लक्ष्ण दिखाई दे सकते हैं। मासपेशियों की कमजोरी और सिर के दर्द की समस्या से भी आप परेशान हो सकते हैं। अगर शरीर में नमक की कमी हो जाए तो मस्तिष्क को क्षति पहुंच सकती है।

जर्नल ऑफ फैमिली मेडिसिन एंड प्राइमरी केयर की रिपोर्ट में कहा गया है कि “भारत में करीब 20 करोड़ लोगों में आयोडीन की कमी से होने वाले विकार का खतरा है।”

⸎ इन लोकप्रिय खबरों को भी पढ़ें

☞ इन आसान उपायों से पाएं स्वस्थ ओर लम्बी उम्र का तोहफ़ा

☞ 5 आदतें जो आपको बना सकती है दिल का मरीज

☞ अगर करना चाहते है वजन कम तो आज़माएं ये आसान घरेलू उपाय

☞ आपातकाल की स्थिति में ये घरेलू नुस्ख़े आएंगे आपके काम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here