स्मार्टफोन ना बन जाए आपके सर्वाइकल और कमर दर्द की वजह, ऐसे करे बचाव

0
17
Tips For Cervical and Neck Pain in Hindi

Tips For Cervical and Neck Pain in Hindi: आधुनिक उपकरण या स्मार्ट गैजेट आज व्यक्ति के जीवन की सबसे बड़ी जरूरत बन गई है। इनके बिना हमारे सभी काम अधूरे रहते हैं, लेकिन क्या आप जानते है आपकी आँखों से ओझल ना होने वाला स्मार्टफोन एक बड़ी बीमारी का कारण बन सकता है। आपको बता दे, मोबाइल या लैपटॉप का गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर ये कमर और गर्दन में दर्द का कारण बन रहा है। आज हम आपको बताने जा रहे है कि आप कैसे कमर और गर्दन के दर्द से बच सकते है?

स्मार्टफोन बन रहा सर्वाइकल और कमर दर्द का कारण  

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसिन डिपार्टमेंट ने ग्रामीण इलाकों में रहने वाले मरीजों पर किए गए एक रिसर्च से इस बात का खुलासा हुआ है। इस रिसर्च में पता चला कि 60 प्रतिशत लोग मस्कुलोस्केल्टन डिसऑर्डर यानि जोड़ों के दर्द से काफी परेशान थे। स्मार्टफोन और लैपटॉप का गलत तरीके से प्रयोग करने के कारण लोगों में जोड़ों के दर्द और सर्वाइकल जैसी समस्याएं तेज़ी से बढ़ रही हैं।

रिसर्च से हुआ खुलासा,

यह रिसर्च लगभग 200 लोगों पर की गई थी और इनमे से 54 फीसदी लोग कमर दर्द का सामना कर रहे थे। आपको बता दें कि अगर स्मार्टफोन की डिस्प्ले को 60 डिग्री से ज्यादा गर्दन मोड़कर देखा जाए तो अक्सर ऐसी समस्या उत्पन्न होती हैं। ऐसा करने से किसी की रीढ़ की हड्डी निरंतर मुड़ने की अवस्था में ही रहती है। आगे चलकर, यही व्यक्ति के दर्द का कारण बन जाती है।

कैसे करे सर्वाइकल और कमर दर्द से बचाव? (Tips For Cervical and Neck Pain in Hindi)

अगर आप स्मार्टफोन या लैपटॉप के उपयोग के कारण बढ़ रही इस परेशानी से मुक्ति पाना चाहते हैं तो आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखने की आवश्यकता है।

1. खड़े रहते समय, बैठते समय, कंप्यूटर पर काम करते समय, वाहन चलते समय, और सोते समय अपने शारीरिक एंगल को सही रखने से रीढ़ की हड्डी को नुकसान नहीं पहुँचता है।

2. अपनी आंखों को कंप्यूटर स्क्रीन से करीब 80 सेंटीमीटर की दूरी पर रखना चाहिए।

3. आपको कभी भी फोन को कान और कंधे के बीच में फंसाकर बात नहीं करनी चाहिए। इसके बजाय आपके लिए ईयरफोन का इस्तेमाल करना ज्यादा बेहतर विकल्प साबित होगा।

4. हमेशा स्मार्टफोन पर चिपके रहने की बजाय थोड़ा समय अपनी फिटनेस के लिए निकालें और रोज़ करीब 20 मिनट तक टहलें।

5. लम्बी अवधि तक एक ही स्थिति में बैठने और खड़े होने से बचना चाहिए। नियमित रूप से ब्रेक लेना अपनी आदत में शामिल करे और हर दो घंटे के बाद ब्रेक लें। इससे शरीर को आराम मिलता है।

6. गर्दन एवं कंधे का नियमित रूप से व्यायाम करें। सही स्थिति में बैठने पर बल दे। पैर जमीन पर और पीठ कुर्सी के पिछले भाग पर सीधी रखें।

इन साधारण टिप्स को अपनी ज़िन्दगी में उतारने से आप स्वस्थ जीवन जी सकते ह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here