Virat Kohli Double Century Highlights: विराट कोहली के बल्ले से निकला दोहरा शतक, सहवाग और सचिन को छोड़ा पीछे

0
23
Virat Kohli Double Century Highlights

Virat Kohli Double Century Highlights: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने लम्बे समय बाद शतक लगाकर रनो के सूखे को खत्म किया था। कोहली ने लगभग 10 महीने बाद टेस्ट मैच में शतक लगाया था। साउथ अफ्रीका की टीम के खिलाफ अपनी पारी को जारी रखते हुए क्रिकेट जगत में सबको पछाड़ दिया है। शुक्रवार को कोहली ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन अपने टेस्ट करियर का सातवां दोहरा शतक जमाया और इसी के साथ टेस्ट में भारत की तरफ से कोहली सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने वालों की सूची में पहले स्थान पर आ गए हैं।

अफ्रीका के खिलाफ कोहली का दोहरा शतक (Virat Kohli Double Century Highlights)

साउथ अफ्रीका के खिलाफ विराट कोहली (Virat Kohli) ने नॉटआउट 254 रन की पारी खेलते हुए अपने टेस्ट करियर में नया आयाम जोड़ा। कोहली के टेस्ट करियर का यह अब तक का सबसे बड़ा स्कोर है, इसके साथ ही उन्होंने भारत की तरफ से टेस्ट में सबसे ज्यादा दोहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

कोहली ने खेली शानदार पारी

पुणे में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे टेस्ट मैच में विराट कोहली ने 336 गेंद पर 33 चौके और 2 छक्के की मदद से 254 रन की नाबाद पारी खेली। भारतीय कप्तान की इस पारी की बदौलत टीम इंडिया (Team India) 601 रन का स्कोर खड़ा कर पाई। टेस्ट क्रिकेट में लगाया गया विराट का यह 7वां दोहरा शतक है। टेस्ट में उन्होंने अब तक छह अलग अलग टीमों के खिलाफ दोहरा शतक लगाया है।

बीसीसीआई की ऑफिसियल वेबसाइट ने कोहली की तरफ से लिखा है, ‘सभी दोहरे शतक लगाकर अच्छा लगा, लेकिन अगर आप मुझसे पूछेंगे तो मैं कहूंगा कि एंटिगा में और मुंबई में इंग्लैंड के खिलाफ लगाया गया दोहरा शतक खास है, क्योंकि एक घर से बाहर और घर में चुनौतीपूर्ण परिस्थतियों में लगाया था।’ कोहली ने भारत के लिए सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने की रेस में सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग को पीछे छोड़ा है। इन दोनों के नाम टेस्ट में छह-छह दोहरे शतक हैं.

शतक लगाने के बाद कोहली ने कहा,

शतक के बाद कोहली ने कहा, ‘भारत के लिए सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाकर मुझे अच्छा महसूस हो रहा है। शुरुआत में मैं बड़े स्कोर करने के लिए संघर्ष करता था, लेकिन जब मैं कप्तान बना तब आप अपने आप टीम के बारे में सोचते हो। आप अपने बारे में नहीं सोच सकते। इस प्रक्रिया में, आप जितनी सोचते हो उससे ज्यादा बल्लेबाज करने में सफल रहते हो.’

दूसरे दिन कोहली ने आठ घंटे तक बल्लेबाजी की। इस बारे में कप्तान ने कहा, ‘यह मुश्किल है लेकिन अगर आप टीम के बारे में सोचते हो तो आप जितनी बल्लेबाजी कर सकते हो उससे तीन-चार घंटे ज्यादा बल्लेबाजी कर जाते हो। यहां काफी उमस थी।मेरे लिए सिर्फ यही एक चुनौती थी। फिर रवींद्र जडेजा आए और उनके साथ आपको तेज भागना पड़ता है।’

आपको बता दे, इस मैच में हनुमा विहारी नहीं खेल रहे हैं। उनके स्थान पर जडेजा को नंबर-6 पर भेजा गया था। इस पर कोहली का कहना है कि, ‘हमारी रणनीति साफ थी कि हमें 600 रन बनाने हैं और आज शाम तक उन्हें बल्लेबाजी पर बुलाना है। जड्डू ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और इसी कारण मुझे ज्यादा जोखिम नहीं लेना पड़ा। साझेदारी ने चीजों को सही तरह से रख दिया और हम ने अंत में 15 ओवर गेंदबाजी भी की।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here