सचिन ने क्या कहा टीम इंडिया में महेंद्र सिंह धोनी के किरदार को लेकर

0
141
सचिन ने क्या कहा टीम इंडिया

हाल ही में क्रिकेट के भगवन कहें जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन रमेश तेंदुलकर ने बताया की महेंद्र सिंह धोनी कितनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है। इसके अलावा, उन्होंने टीम इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच हुए अभ्यास मैच के बारे में विस्तार से बताया है। उन्होंने कहा की अभ्यास मैच में न्यूजीलैंड से मिली हार के बावजूद भी टीम इंडिया का आत्मविश्वास उच्च स्तर पर देखा जा सकता है। इस अभ्यास मैच के बाद टीम इंडिया के खतरनाक बल्लेबाज और टीम के कप्तान विराट कोहली ने निचले क्रम के सभी बल्लेबाजों की जमकर तारीफ की है। उन्होंने कहा है  की मुश्किल परिस्थिति के बावजूद भी लोअर आर्डर बल्लेबाजों ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया है।

वैसे  हम आपको बता दें की कोहली की रॉयल चैलेंजर बैंगलोर का प्रदर्शन आईपीएल 2019 में काफी निराशाजनक रहा था। जिसके दौरान विराट कोहली को काफी दवाब में भी देखा गया था। इस पर सचिन तेंदुलकर ने कहा है के आईपीएल में कप्तानी करना और नेशनल टीम के लिए कप्तानी करना दोनों में काफी अंतर है। हमें विराट की कप्तानी को आईपीएल के प्रदर्शन से नहीं जोड़ना चाहिए। विराट एक कमाल के बल्लेबाज होने के साथ ही साथ कमाल के कप्तान भी है। जो उन्होंने कई बार साबित भी किया है।

बतौर कप्तान धोनी का प्रदर्शन

इसके अलावा, सचिन ने कहा है की एक कप्तान के तौर पर तो हमें पता ही है की महेंद्र सिंह धोनी कितने कमाल के गेंदबाज है। इसका सबसे अच्छा उदहारण हमें आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 के फाइनल मैच के दौरान देखने को मिला था। जिसमे महेंद्र सिंह धोनी ने कमाल की बल्लेबाजी करते हुए टीम  इंडिया को वर्ल्ड कप 2011 का खिताब जीतवाया था। इसको को देखते हुए उन्होंने कहा है की एमएस धोनी की इस वर्ल्ड कप में भी महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली है। क्योंकि धोनी की मात्र उपस्थिति से ही टीम इंडिया को अधिक लाभ मिलता है। धोनी अपना अनुभव विकेटकीपिंग के साथ ही मैच के अहम मोड़ में दिखाते हुए नजर आएंगे।

विकेटकीपर के तौर पर एमएस धोनी की भूमिका

भारतीय गेंदबाजों में के लिए एमएस धोनी कहना काफी अहम बन जाता है क्योंकि धोनी विकेट  रहते हुए अपने गेंदबाजों को अच्छे से गाइड करते है। की उन्हें किस लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी करनी चाहिए। इतना ही नहीं कीपिंग के दौरान मैदान पर मौजूद सभी खिलाड़ियों पर अपनी नजर रखते है तथा इस बात का भी ध्यान रखते है की किस खिलाड़ी को मैदान के किस स्थान पर खड़ा होना चाहिए। यदि टीम किसी परिस्थिति में पीछे नजर आती है तो यह गेंदबाज और टीम के कप्तान दोनों से अपनी बात साँझा करते है। ताकि वह अच्छे से मैच में अपनी पकड़ बना सके।

तेंदुलकर ने टीम इंडिया की त्रिमूर्ति यानी विराट कोहली, शिखर धवन रोहित शर्मा के बारे में महत्वपूर्ण बात की है उन्होंने कहा है की इन तीनों खिलाडियों का टीम इंडिया में काफी अहम रोल है अधिकतर इन तीनों की बल्लेबाजी पर ही निर्भर करता है की मैच किस ओर जाएगा। तीनों ही ऐसे बल्लेबाज है जो अपने दम पर पुरे मैच का रुख पलट सकते है। जो इन्होने कई मौको पर करके भी दिखाया है।

वैसे हम आपको बता दें की सचिन तेंदुलकर ने अपने पुरे जीवन में 6 वर्ल्ड कप खेलें है। इसमें उन्होंने वर्ष 2011 के आईसीसी वर्ल्ड कप में टीम इंडिया को विजेता बनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here