दुनिया से जुड़ी इन 8 रहस्यमयी बातों के बारे में नहीं जानते होंगे आप

500
8 Mysterious

आज हम आपको दुनिया से जुडी कुछ ऐसी बातों से अवगत कराएँगे। जिनके बारे में शायद ही आपको कुछ पता होगा। इन सब बातों को जानकार आप भी हैरान रह जाएंगे।  क्या आपको पता है की कछुआ एक ऐसा प्राणी है जिसके दाँत नहीं होते है। इतना ही नहीं बहुत कम लोगों को पता होगा की शतरंज का आविष्कार भारत द्वारा किया गया था। और शुतुरमुर्ग एक ऐसा पक्षी है जिसकी आँखे उसके दिमाग के आकार से बहुत बड़ी होती है। क्या आपको पता है की धरती पर कछुए की कितनी प्रजाति मौजूद है? तथा किसी – किसी देश में तो मनुष्य से अधिक पशु रहते है।

1. हर वर्ष 23 मई के दिन ही कछुआ दिवस मनाया जाता है। पृथ्वी पर कछुए की करीबन 300 से अधिक प्रजातियाँ रहती है। अगर हम हिंदू धर्म से जुड़ीं मान्यताओं के बारे में बात करें तो जिस जगह पर कछुए के वास होता है वहा लक्ष्य माता का आगमान मन जाता है। फेंगशुई में तो कछुए को रखना काफी अच्छा माना जाता है। यदि आप अपने घर या ऑफिस में इसे रखते है तो वहा पर भी सकारात्मक वातावरण बना रहता है।

2. क्या आपको पता है की विश्व में कुछ ऐसे देश भी है जहा मनुष्य से ज्यादा जानवर रहते है। उनमे से ही एक देश फ्रांस है। यहाँ की राजधानी पेरिस में मनुष्यों की संख्या से अधिक कुत्तों की संख्या है। यहाँ पर कोई भी नागरिक कुत्तों को बिना किसी परेशानी के मैट्रो में ले जा सकता है। उसके लिए किसी भी प्रकार की रोक नहीं नहीं है।

3. दुनिया के अंतर्गत, न्यूजीलैंड एक ऐसा देश है जहाँ पर 40 मिलियन मनुष्य रहते है। जबकि आप यह जानकार हैरान रह जाएंगे। भेड़ों की संख्या इससे अधिक है। क्योंकि न्यूजीलैंड में 70 मिलियन भेड़ रहती है

4. जब कभी भी मेंढक किस भी कीड़े को निगलता है तो उसकी हमेशा आँखे बंद हो जाती है। ऋग्वेद के अनुसार, मेंढक को मांगलिक तथा अधिक शुभ माना जाता है।

5. भारत द्वारा शतरंज का अविष्कार किया गया था। यह एक दिमागी तौर पर खेला जाने वाला खेल है। मनौवैज्ञानिको के अनुसार, यदि आप शतरंज खेलते है तो आपकी दिमाग की बैद्धिक क्षमता में सुधार होता है।

6. शुतुरमुर्ग जुड़ी कुछ बातें हैरान कर देने वाली है। जैसेकि शुतुरमुर्ग दुनिया का सबसे विशाल पक्षी है। इसके दिमाग का आकार इसकी आँखों से बहुत छोटा होता है। यह पक्षी 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ सकता है।

7. डॉल्फिन एक ऐसी मछली है जो अपनी साँसो को 8 मिनट तक रोक सकती है। यह मछली अपनी आँखों को खुलकर भी सो सकती है। जब कभी भी मनुष्य साँस लेता है तो वह अपने फेफड़ों में ताजा हवा के साथ 15 % हवा ग्रहण करता है। जबकि यह मछली जब साँस लेती है तो ताजा हवा के साथ ही साथ 90 प्रतिशत हवा भी लेती है।

8. यदि कोका कोला में रंग नहीं मिलाया जाए तो वह हरे रंग की होती है। रंग मिलाने के बाद ही यह आपको काले रंग में नजर आती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here